पित्त के लक्षण और उपाय – Remedies for Pitta

Published by KK on

चटपटे मसालेदार पदार्थों का अधिक मात्रा में सेवन करना,नमकीन और तीखे पदार्थ हमेशा खाना, हमेशा मानसिक तनाव में और गुस्से में रहना, और अधिक मात्रा में शराब का सेवन करना इस वजह से शरीर में पित्त बढ़ना शुरू होता है। सही टाइम पर खाना ना खाना, फास्ट फूड का अधिक मात्रा में सेवन करना, और अधिक मात्रा में मांसाहार का सेवन करना यह भी पित्त बढ़ने के कारण हैं। इन कारणों से हमारे शरीर में पित्तदोष बढ़ने लगता है।

इसके बढ़ते अधिक मात्रा में थकावट महसूस होती है। नींद कम हो जाती है। शरीर में पसीना ज्यादा आना तेज जलन होना ,यह भी पित्त बढ़ने के लक्षण है। बदन से दुर्गंध आना, ज्यादा गुस्सा आना यह भी पित्त बढ़ने के लक्षण है। कभी-कभी तो पित्त बढ़ने की वजह से चक्कर भी आने लगते हैं। मुंह का स्वाद कड़वा और खट्टा होना, यह भी इसके लक्षण पाए जाते हैं, पित्त को हम आयुर्वेद के माध्यम से शांत कर सकते हैं और इससे छुटकारा पा सकते हैं। और यह उपाय भी बहुत सरल होते हैं।

* आलू की डंडी की छाल सुखा के उस का चूर्ण बनाकर उसे छान लीजिए, वह 2 ग्राम चूर्ण और 5 ग्राम शक्कर एक साथ मिलाकर 14 दिन खाने मे पित्त ठीक हो जाता है।

अमारी के फूल का रस चार चम्मच 50 ग्राम शक्कर और 5 ग्राम कालीमिर्च का चूर्ण एक साथ मिक्स करके पीने से 14 दिन में पित्त विकार ठीक हो जाता है।

*सभी प्रकार के दालों का उपयोग करने से पित्त ठीक हो जाता है।

* अधिक मात्रा में घी का सेवन करने से पित्त में आराम मिलता है।

*सुंठ, आंवला और शक्कर एक प्रमाण में लेकर उसके चूर्ण को छान लीजिए और वहां 5 ग्राम चूर्ण हर दिन लेने से आम्लपित्त ठीक हो जाता है।

*सरसों का तेल और सेंधा नमक मिक्स करके लगाने से आराम हो जाता है।

* कोकम को शरीर पर घिसकर लगाने से पित्त चला जाता है।

*करौंदे के बीज 1 किलो और 2 किलो शक्कर मिक्स करके घोल बनाइए और इसमें इलायची चूर्ण मिक्स करें और हर दिन चार चम्मच का सेवन करने से पित्त विकार ठीक हो जाता है।

*चिराईत ,इंद्रवारुणी,कालीमिर्च,सुंठ,पीपल,संधा नमक, काला नमक और हींग एक प्रमाण में लेे और इस चूर्ण को कपड़े से छान लेे। इस 5 ग्राम चूर्ण को पानी के साथ 1 महीना शाम को सेवन करने से पित्त ठीक हो जाता है।

* 20 ग्राम कोकम को दो कप पानी में तोड़ के और वह पानी छान के उसमें 10 ग्राम जीरा और 50 ग्राम शक्कर मिलाकर पिए। और कोकम का पानी बदन को लगाए ऐसा करने से पित्त और पित्त के फोड़े ठीक हो जाते है।

*कोहड़ा का रस 4 चम्मच और 10 ग्राम शक्कर एक साथ मिलाकर पीने से 1 महीने में पित्त ठीक हो जाता है।

* अंगूर का रस दो कप और 20 ग्राम शक्कर एक साथ मिक्स करके 7 दिन पीने से पित्त विकार ठीक हो जाता है।

*पीपल का चूर्ण 2 ग्राम और शहद चार चम्मच एक साथ लेने से पित्त में फायदा होता है।

*पोदीना अर्क चार से पांच बूंद एक कप पानी में डालकर रोज लेने से पित्त विकार ठीक हो जाता है।

*आलू का रस एक कप रोज लेने से 1 महीने मैं पेट का अल्सर ठीक हो जाता है।

*बेल के पत्तों का रस एक चम्मच और शक्कर 10 ग्राम एक साथ मिक्स करके पीने से कुछ ही दिनों में आम्लपित्त ठीक हो जाता है।

*चार चम्मच बेल के पत्तों का रस रोज पीने से 14 दिन में गले में होने वाली जलन ठीक हो जाती है।

*मूली और खड़ी शक्कर एक साथ चबा चबा कर खाने से पित्त में बहुत आराम पड़ता है।

*सहजन की छाल 50 ग्राम और पानी आधा लीटर इन का काढ़ा करके दो कप बचाइए। इसमें 4 चम्मच शहद मिलाकर पीने से 1 महीने में आम्लपित्त ठीक हो जाता है।

तो इन उपायों से आप पित्त में राहत पा सकते हैं और इससे होने वाली तकलीफ से बच सकते हैं।