आखों के रोगों पर कारगर इलाज – Remedies on Eye Diseases

Published by KK on

आज की भागदौड़ वाली जिंदगी, शहरी जीवन, दिन-ब-दिन बढ़ता हुआ प्रदूषण, फस्टफूड वाला खाना इससे हमारे आंखों को जरूरी पोषक तत्व बहुत कम मिलते हैं। बहुत देर तक रात को टीवी देखना, कंप्यूटर पर काम करना, मोबाइल का लगातार उपयोग करना, खाने में पोषक आहार ना लेना इसकी वजह से आंखें खराब होने लगती है। और इंफेक्शन की वजह से आंखों पे बहुत बुरा असर होता है। इसके चलते हमें आंखों की कई सारी बीमारियां हो जाती है। इससे बचने के लिए हम कुछ आयुर्वेदिक उपाय कर सकते हैं और इन बीमारियों से हम निजात पा सकते हैं।

  • त्रिफला चूर्ण और घी 10 ग्राम लेकर मिक्स करें और एक महीना इसका सेवन करें आंखों के सब रोग ठीक हो जाएंगे।
  • आंवला चूर्ण को पानी में भिगोकर उससे आंखें धोने से फायदा होता है।
  • गुलाब जल को आंखों में डालने से आंखें साफ हो जाती है और आंखों की बीमारियां ठीक होती है।
  • धनिया को थोड़ा कूट के उसमें थोड़ा नमक मिलाकर उसे एक कपड़े में बांध के आंखों पर लगाए। आंखों कि समस्याओं में राहत मिलेगी।
  • अगर आंखों में हिट आ गई हो और आंखें आ गई हो तो नींबू का रस और गुलाब जल इनको एक प्रमाण में लेकर मिक्स करें और इसे एक 1 घंटे के गैप से आंख में डालने से आंखें ठीक हो जाती है।
  • अगर आंखों के नीचे कालापन आ गया हो तो उस भाग पर सरसों के तेल से मालिश करें। इसके साथ सुखा हुआ आंवला और खड़ी वाली शक्कर खाने से आंखों के नीचे आए हुए काले दाग गायब हो जाते है।
  • अगर आंखों में कचरा गया हो तो 100 ग्राम पानी में एक नींबू का रस डालिए और उसके बाद आंखों को धोने से कचरा निकल जाता है।
  • हिट की वजह से अगर आंखें दर्द कर रही हो तो लौकी को बारीक करके उसकी पट्टी आंखों पर बांधने से आंखें ठीक हो जाती है।
  • अगर आंखों से पानी आ रहा हो तो आंखें बंद करके आंखों की पंखुड़ी पर नींबू के पत्ते लगाने से आंखों से पानी आना बंद होता है और आंखों की रोशनी बढ़ती है।
  • अगर आंखों से चश्मा उतारना हो तो यह प्रयोग कीजिए – 6 से 8 माह नियमित रूप से जलनेति करने से और पैर के तलवों और कान का पिछला हिस्से पर गाय का घी लगाने से फायदा होता है।
  • सात बादाम, 5 ग्राम खड़ी शक्कर और 5 ग्राम बड़ी शॉप तीनों को मिलाकर उसका चूर्ण करें और रात को सोने से पहले दूध के साथ इसका सेवन करें इससे चश्मा उतर जाता है।
  • पैरों के तलवे और अंगूठे इनकी सरसों के तेल से मालिश करने से सभी नेत्र रोग ठीक हो जाते हैं।
  • हरड़ा, बहेड़ा और आंवला इन तीनों को मिक्स करके इनका त्रिफला चूर्ण बनाइए। इस चूर्ण को घी और खड़ी शक्कर के साथ लेने से आंखों की बीमारियां ठीक हो जाती है।
  • रात को सोते समय 1 से 5 ग्राम आंवला चूर्ण पानी के साथ लेने से आंखों को बहुत फायदा होता है।
  • चार चम्मच गिलोय का रस, 4 चम्मच शहद और 5 ग्राम सेंधा नमक एक साथ लेकर मिक्स करें और हर दिन इसे आंखों में लगाएं। इस प्रयोग से 1 महीने में आंखें ठीक हो जाती है।
  • 10 ग्राम गुलाब की पंखुड़ियां एक कप पानी में भिगो के रखे फिर वह पानी छान के हर दिन चार से पांच बूंदे आंखों में डालने से 1 महीने में आंखों की हिट निकल जाती है और चश्मा छूट जाता है।
  • गोरख मुंडी इस वनस्पति का चूर्ण 10 ग्राम, त्रिफला चूर्ण 10 ग्राम और 20 ग्राम घी एक साथ मिक्स करके लेने से 1 महीने में आंखों की सारी बीमारियां दूर हो जाती है।
  • इमली के फूलों को कूट के उसे सोते समय आंखों पर लगाए। ऐसा करने से आंखों की हीट निकल जाती है और सब रोग दूर हो जाते हैं।
  • अनार का रस निकालकर उतने ही नींबू का रस और अच्छी क्वालिटी की शक्कर मिलाकर कलई लगाए हुए बर्तन में धीमी आंच पर इसका पाक होने तक पकाएं। ठंडा होने के बाद कांच के डिब्बे में इसे भर के रखिए और इस दवा को सोते समय आंखों में लगाइए। इससे आंखों के सब रोग दूर होकर नजर तेज हो जाती है।
  • निर्मली के बीज शहद में घोट के रात को सोते समय इसे आंखों में लगाएं ऐसा एक महीना करने से आंखों की सभी बीमारियां दूर हो जाती है और दूर का स्पष्ट दिखने लगता है और चश्मा भी छूट जाता है।
  • मधुमक्खी का शहद हर रोज रात को सोते समय आंखों में लगाने से आंखों की बीमारियां ठीक हो जाती है और दूरदृष्टि प्राप्त होती है।
  • अच्छी क्वालिटी का शहद 100 ग्राम, 10 ग्राम कपूर और पीपल चूर्ण 10 ग्राम एक साथ मिक्स करें। इसे आंखों में लगाने से आंखों को काफी फायदा मिलता है।
  • चिरचिरी के पत्तों का रस दो बूंद और सहजना के पत्तों का रस 2 बूंद एक साथ मिक्स करके आंखों में लगाने से आंखें ठीक हो जाती है।
  • सुंठ और नीम के पत्ते बराबर मात्रा में लेके मिक्स करें और उसमें थोड़ा सेंधा नमक मिलाकर उसके दो हिस्से करें और रात को सोते समय यह दो हिस्से दोनों आंखों पर बांध लीजिए। ऐसा करने से आंखों की सूजन और लालपन ठीक हो जाता है।
  • अगस्तिया के फूलों का रस चार से पांच बूंद रात को आंखों में डालने से 1 महीने में स्वच्छ दिखाई देने लगता है।
  • ग्वारपाठा का गिरा निकाल के उसे आंखों पर बांध के सोने से आंखें स्वच्छ हो जाती है और आंखों का लालपन निकल जाती है।

ये उपाय करके आप आंखों की अलग-अलग बीमारियों से निजात पा सकते हैं।